Getting Started in Technical Analysis I 1 टेक्निकल एनालिसिस क्या है ?

Getting Started in Technical Analysis वह तरीका है जिससे हम स्टॉक मार्केट के किसी भी फील्ड(Field) में चाहे वह ऑप्शन बाइंग (Option Buying) & सेल्लिंग(Selling) , कमोडिटी (Commodity) डेरीवेटिव (Derivative) , करेंसी (Currency) इत्यादि हो , इन सभी फील्ड(Field) में हम भविष्य में होने वाले घटना जैसे:- प्राइस का बढ़ना , प्राइस का घटना , प्राइस कहाँ तक जा सकती है तथा प्राइस कहा तक घट सकती है इन सभी चीजों के बारे में हम अनुमान लगाते हैं।

हम टेक्निकल एनालिसिस सभी तरह के मार्केट में हैं चाहे वह स्टॉक मार्केट हो या क्रिप्टो मार्केट। टेक्निकल एनालिसिस सभी लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। Getting Started in Technical Analysis करते समय हम बहुत सारे टूल्स (Tools) का उपयोग करते हैं। या फिर हम यह कह सकते हैं कि इनके बिना अधूरा है जैसे कि पानी बिना मछली और चीनी बिना चाय ! यदि टूल्स की बात करें तो शेयर मार्केट में तीन टूल्स को मुख्य माना जाता है , जिससे हम मार्केट के भविष्य के बारे में पता लगा सकते हैं।

Getting Started in Technical Analysis I 1 टेक्निकल एनालिसिस क्या है ?

  • Trend 
  • Support
  • Resistance

ट्रेंड(Trend) क्या होता है ?

शेयर बाज़ार में Trend Line एक महत्वपूर्ण तकनीकी विश्लेषण होता है जो स्टॉक मूल्यों की गतिविधि को समझने में मदद करता है। यह तकनीक उन विभिन्न तत्वों का अध्ययन करती है जो स्टॉक मार्केट की गतिविधि को प्रभावित करते हैं, जैसे कि उच्चतम, निम्नतम और मध्यम स्तर इत्यादि। शेयर बाज़ार में Trend Line एक विशिष्ट दिशा को दर्शाता है जिसमें स्टॉक मूल्यों की गतिविधि होती है। यदि स्टॉक मूल्य लगातार बढ़ते हैं तो इसे उच्चतम या Bullish Trend कहते हैं।

यदि स्टॉक मूल्य लगातार घटते हैं तो इसे निम्नतम या Bearish Trend कहते हैं। यदि स्टॉक मूल्य एक निश्चित सीमा के बीच तेजी से ऊपर-नीचे होते हैं तो इसे मध्यम या Sideways Trend कहते हैं। जो स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग करने वाले लोगों को अपनी व्यापार रणनीति तय करने में मदद करती है। Trend शाब्दिक अर्थ प्रवृति या झुकाव होता है। मतलब की किसी Stock में इन्वेस्टर(Investor) या ट्रेडर(Trader) का झुकाव किस ओर है।

इन्वेस्टर और ट्रेडर मिलकर किसी भी स्टॉक का प्राइस(Price) घटा या बढ़ा सकते हैं। ट्रेंड(Trend) के लिए एक कहावत कहा गया है कि Trend Is Your Friend, मतलब मार्केट से पैसा कमाना है तो आपको ट्रेंड के साथ ही React करना होगा। तो चलिए अब बात करते हैं :-

ट्रेंड कितने प्रकार के होते हैं ? I Types of Trend 

Trend मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं :-
i) UP-Trend
ii) Down Trend
iii) Side Ways
बहुत सारे इन्वेस्टर या ट्रेडर इस ट्रेंड को आसानी से नहीं समझ पाते हैं ,जिसके वजह से स्टॉक मार्केट में गलत फैसले ले लेते हैं। तो चलिए समझते हैं की UP-Trend तथा Down Trend क्या है ? लेकिन इन सभी चीजों को समझने से पहले आपको एक महत्वपूर्ण चीज को समझना होगा तब ही ट्रेंड समझ आएगा तो वह Bull और Bear ! तो पहले Bull और Bear को समझ लेते हैं ताकि Trend को समझने में आसानी होगा।

Bull तथा Bear क्या होता है ?

Bull :- Bull का मतलब होता है खरीदने वाला, वह चाहता है की मार्केट में हमेशा तेजी रहे। जब मार्केट में तेजी होता है तो उसे Bullish मार्केट कहा जाता है। मार्केट में कुछ बड़े इन्वेस्टर को भी Bull कहा जाता है। जैसे :- राकेश झुनझुनवाला , हर्षद मेहता

Bear :- Bear उन लोगो को कहा जाता है जो लोग चाहते हैं की मार्केट नीचे ही गिरते रहे। Bullish के समय मार्केट में मंदी होती है सभी स्टॉक के प्राइस निचे गिर रहे होते हैं।

1. ऊपर की प्रवृति (Up-Trend)

जब Getting Started in Technical Analysis आप करते हैं तो आपको सबसे पहले Up-Trend के बारे में समझना होता है। Up Trend का मतलब मार्केट या कोई एक स्टॉक Bullish मोड़ में है या उसका कीमत लगातार बढ़ रहा है। आपके मन में एक सवाल जरूर आ रहा होगा की आखिर कैसे पहचानेंगे की मार्केट Up Trend में है ?

अगर किसी स्टॉक का प्राइस बढ़ रहा है और वह हर बार अपने high price को पीछे छोड़ कर एक नया high price बना रहा है तथा low price उसके ऊपर ही low बना रहा है तो आप कह सकते हैं कि stock या मार्केट up trend में है। यदि आपको अभी भी नहीं समझ आया होगा तो कोई बात नहीं। इसको एक उदाहरण से आपको समझने की कोशिश करता हूँ।

जैसे:- वेदांता कंपनी का शेयर प्राइस अभी 290 रुपये चल रहा है , अब एक दिन बाद इसका प्राइस 300 रुपये हो जाता है। उसके बाद वेदांता का शेयर प्राइस नीचे गिर कर 295 रुपये हो जाता है। फिर एक दिन बाद वेदांता का शेयर प्राइस 310 रुपये हो जाता है और फिर निचे गिर कर 305 रुपये का low बनाता है। और यह प्रक्रिया चलते रहता है।  जैसे :- 320 का high फिर 315 का low, 330 का high 325 का low इसतरह वेदांता का higher high और higher low बनता ही रहता है तो इसको हम Up-Trend बोल सकते हैं।

Getting Started in Technical Analysis I 1 टेक्निकल एनालिसिस क्या है ?Getting Started in Technical Analysis I 1 टेक्निकल एनालिसिस क्या है ?

Higher High :- 300, 310, 320, 330
Higher Low :- 295, 305, 315, 325

2. निचे की प्रवृति (Down Trend)

Down Trend का मतलब कोई भी स्टॉक या मार्केट Bearish Mode में है या फिर लगातार स्टॉक की कीमत निचे गिर रही हो। तो मार्केट Down Trend में है। तो चलिए समझते हैं की Down Trend को कैसे पहचाने ?

यदि किसी स्टॉक का प्राइस निचे गिर रहा है और हर बार नया Low बना रहा है तो मार्केट अभी Down Trend में है जैसे हमने वेदांता का Up Trend में वेदांता कंपनी का उदाहरण लिया था उसी प्रकार down Trend को भी समझते हैं।

माना की वेदांता कंपनी का शेयर प्राइस 330 रुपये चल रहा है और अगले दिन 320 रुपये का Low बनाता है और 325 रुपये पर रुक गया और फिर अगले दिन 310 का Low बनाया और 315 पर रुक गया , जिसमे 320 ,310 Lower Low और 325 ,315 Higher Low है तो स्टॉक down trend में है।

Getting Started in Technical Analysis I 1 टेक्निकल एनालिसिस क्या है ?

Getting Started in Technical Analysis I 1 टेक्निकल एनालिसिस क्या है ?

दोस्तों यदि Getting Started in Technical Analysis I टेक्निकल एनालिसिस क्या है ? समझ आ रहा होगा तो कमेंट कर के जरूर बताएं !

3. Side Ways

एक Side Ways Market वह मार्केट होता है जो ना ही Up-Trend होता है ना ही Down Trend में होता है वह एक रेंज में ही ऊपर निचे होते रहता है। चलिए अब इसे एक उदाहरण से ही समझते हैं I

जैसे पंजाब नेशनल बैंक (PNB) 26 सितम्बर 2022 से 18 अक्टूबर 2022 तक Side ways ट्रेंड में था जो कि नीचे फोटो में आपको दिखाया गया है। पंजाब नेशनल बैंक 22 दिनों तक 34 रुपये से 37 रुपये के बीच में ही ऊपर नीचे हो रहा था। पंजाब नेशनल बैंक ना तो 37 रुपये से ऊपर गया और ना ही 34 रुपये नीचे आया। इस तरह के मार्केट को Side ways मार्केट कहा जाता है।

दोस्तों हम (Getting Started in Technical Analysis) का अगला Post में Support Resistance के बारे में बात करेंगे कि आखिर Support & Resistance क्या होता है ?

यदि आप सभी को थोड़ा भी समझ आया होगा तो कमेंट कर के जरूर बताएं और यदि आपके नजर में कुछ कमी लग रहा होगा तो हमें जरूर बताएं ताकि हम अगला पोस्ट में सुधार कर बेहतर करने का प्रयास करेंगे। धन्यवाद !

Leave a Comment